ग़म नहीं होता है आज़ादों को बेश-अज़-यक-नफ़स
बरक़ से करते हैं रौशन शम`-ए मातम-ख़ानह हम

महफ़िलें बर-हम करे है गनजिफ़ह-बाज़-ए ख़याल
हैं वरक़-गरदानी-ए नैरनग-ए यक बुत-ख़ानह हम

बा-वुजूद-ए यक जहां हनगामह पैदाई नहीं
हैं चिराग़ान-ए शबिसतान-ए दिल-ए परवानह हम

ज़ु`फ़ से है ने क़ना`अत से यह तरक-ए जुसत-जू
हैं वबाल-ए तकयह-गाह-ए हिममत-ए मरदानह हम

दाइम उल-हबस उस में हैं लाखों तमननाएं असद
जानते हैं सीनह-ए पुर-ख़ूं को ज़िनदां-ख़ानह हम

Please join our telegram group for more such stories and updates.telegram channel

Books related to दीवान ए ग़ालिब


चिमणरावांचे चर्हाट
नलदमयंती
सुधा मुर्ती यांची पुस्तके
सापळा
झोंबडी पूल
अश्वमेध- एक काल्पनिक रम्यकथा
श्यामची आई
गांवाकडच्या गोष्टी
खुनाची वेळ
लोकभ्रमाच्या दंतकथा
मराठेशाही का बुडाली ?
शिवाजी सावंत
कथा: निर्णय
मृत्यूच्या घट्ट मिठीत
पैलतीराच्या गोष्टी