कोरोना वायरस प्रकोप

मूल प्रजनन संख्या

वुहान कोरोना वायरस प्रकोप (2019–20) की शुरुआत एक नए किस्म के कोरोनवायरस (2019-nCoV) के संक्रमण के रूप में मध्य चीन के वुहान शहर में 2019 के मध्य दिसंबर में हुई। बहुत से लोगों को बिना किसी कारण निमोनिया होने लगा और यह देखा गया की पीड़ित लोगों में से अधिकतर लोग हुआँन सीफ़ूड मार्केट में मछलियाँ बेचते हैं तथा जीवित पशुओं का भी व्यापर करते हैं। चीनी वैज्ञानिकों ने बाद में कोरोनावायरस की एक नई नस्ल की पहचान की जिसे 2019-nCoV प्रारंभिक पदनाम दिया गया।

मूल प्रजनन संख्या

लोगों के बीच वायरस का प्रसार परिवर्तनशील रहा है, कुछ प्रभावित लोगों ने वायरस को दूसरों तक नहीं पहुँचाया जबकि अन्य कई संक्रमित लोगों ने दूसरे लोगों में संक्रमण को फैलाया है। से 3.11 तक मूल प्रजनन संख्या के लिए

कई अनुमान लगाए गए हैं। संख्या बताती है कि, एक नव संक्रमित व्यक्ति कितने लोगों को वायरस से संक्रमित करने की संभावना रखता है। नए कोरोनोवायरस कथित तौर पर अब तक चार लोगों की श्रृंखला को संक्रमित करने में सक्षम हैं। यह गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम से संबंधित कोरोनावायरस (SARSCoV) के समान है।