कोरोना वायरस प्रकोप

हाथ धोना

वुहान कोरोना वायरस प्रकोप (2019–20) की शुरुआत एक नए किस्म के कोरोनवायरस (2019-nCoV) के संक्रमण के रूप में मध्य चीन के वुहान शहर में 2019 के मध्य दिसंबर में हुई। बहुत से लोगों को बिना किसी कारण निमोनिया होने लगा और यह देखा गया की पीड़ित लोगों में से अधिकतर लोग हुआँन सीफ़ूड मार्केट में मछलियाँ बेचते हैं तथा जीवित पशुओं का भी व्यापर करते हैं। चीनी वैज्ञानिकों ने बाद में कोरोनावायरस की एक नई नस्ल की पहचान की जिसे 2019-nCoV प्रारंभिक पदनाम दिया गया।

हाथ धोना

2019-nCoV के प्रसार को रोकने के लिए हाथ धोने की सिफारिश की जाती है। सीडीसी व्यक्तियों को सिफारिश करता है;

"कम से कम 20 सेकंड के लिए साबुन और पानी से हाथ धोएं, खासकर बाथरूम जाने के बाद; खाने से पहले; और अपनी नाक बहने के बाद, खाँसने, या छींकने के बाद अक्सर।"
"यदि साबुन और पानी आसानी से उपलब्ध नहीं हैं, तो अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें जिसमें कम से कम 60% अल्कोहल हो। यदि हाथ स्पष्ट रूप से गंदे हैं तो साबुन और पानी से हमेशा हाथ धोएं।"

सीडीसी, एनएचएस, और डब्ल्यूएचओ भी व्यक्तियों को सलाह देते हैं कि वे बिना धोये हुए हाथों से आंखों, नाक या मुंह को छूने से बचें।