कोरोना वायरस प्रकोप

विदेशी नागरिकों का निष्कासन

वुहान कोरोना वायरस प्रकोप (2019–20) की शुरुआत एक नए किस्म के कोरोनवायरस (2019-nCoV) के संक्रमण के रूप में मध्य चीन के वुहान शहर में 2019 के मध्य दिसंबर में हुई। बहुत से लोगों को बिना किसी कारण निमोनिया होने लगा और यह देखा गया की पीड़ित लोगों में से अधिकतर लोग हुआँन सीफ़ूड मार्केट में मछलियाँ बेचते हैं तथा जीवित पशुओं का भी व्यापर करते हैं। चीनी वैज्ञानिकों ने बाद में कोरोनावायरस की एक नई नस्ल की पहचान की जिसे 2019-nCoV प्रारंभिक पदनाम दिया गया।

विदेशी नागरिकों का निष्कासन

वुहान और हुबेई में सार्वजनिक परिवहन के प्रभावी लॉकडाउन के कारण, कई देशों ने अपने नागरिकों और राजनयिक कर्मचारियों को क्षेत्र से बाहर निकालने की योजना बनाई है, मुख्य रूप से घरेलू राष्ट्र की चार्टर्ड उड़ानों के माध्यम से जिन्हें चीनी अधिकारियों द्वारा मंजूरी प्रदान की गई है। जापान, भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, जर्मनी और थाईलैंड अपने नागरिकों की निकासी की योजना बनाने वाले पहले देशों में से थे। पाकिस्तान ने कहा है कि वह चीन से किसी भी नागरिक को नहीं निकलेगा। 7 फरवरी को, ब्राजील ने 34 ब्राज़ीलियाई परिवार के सदस्यों के साथ 4 पोलिश, एक चीनी और एक भारतीय नागरिक को बाहर निकाला।