डैम के निर्माण की वजह से पहला मजदूर जो ख़तम हुआ वह था २० दिसंबर १९२२ को जे जी तिरनी | वहां मरने वाला आख़री मजदूर था जे जी तिरनी का बेटा जो २० दिसम्बर १९३५ को वहां ख़तम हुआ |

Please join our telegram group for more such stories and updates.

Books related to इतिहास के 18 अविश्वसनीय इत्तेफाक


Ritesh Ojha ji ki kitab. Picture abhi baki hai.
क्या अश्वथामा आज भी जिंदा है? Kya Ashwathama aaj bhi zinda hai ?
भारत के राजवंश
भारतीय इतिहास के कुछ झूठ
दिल्ली का इतिहास
दुर्घटनाग्रस्त